हमारे बारे में

माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदीजी द्वारा 12 मार्च 2021 को साबरमती आश्रम गुजरात से दांडी यात्रा की शुरुवात कर स्‍वाधीनता दिवस की 75वीं वर्षगांठ के 75 सप्ताह पूर्व से ही भारत के गौरवशाली इतिहास और सांस्कृतिक उपलब्धियों को स्मरण करने के उद्देश्य से आजादी का अमृत महोत्सव स्वतंत्रता दिवस 2023 तक समारोहपूर्वक मनाये जाने के निर्णय के अनुक्रम में मध्‍यप्रदेश के यशस्‍वी मुख्‍यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा 12 मार्च 2021 को शौर्य स्‍मारक, भोपाल में आज़ादी का अमृत महोत्‍सव का शुभारम्‍भ करते हुए डॉ. अम्‍बेडकर नगर महू (इंदौर) तथा मध्‍यप्रदेश के 434 स्‍थानों पर कार्यक्रम आयोजित किये गये।  

माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की मंशा अनुसार आजादी के 75 वर्ष का यह पर्व एक ऐसा पर्व होना चाहिए जिसमें स्वाधीनता संग्राम की भावना, उसका त्याग, साक्षत् अनुभव हो सके। जिसमें देश के शहीदों को श्रद्धांजलि भी हो, उनके सपनों का भारत बनाने का संकल्प भी हो, सनातन भारत के गौरव की झलक भी हो और आधुनिक भारत की चमक भी हो। जनभागीदारी की मूल भावना से 130 करोड़ देशवासियों को जोड़कर, आजादी के 75 साल का यह पर्व मनाना है।

सनातन भारत के गौरव एवं आधुनिक भारत के विकास से देश को परिचित कराने के उद्देश्‍य से प्रदेश के ज्ञात-अज्ञात क्रांतिकारियों, शहीदों, रणबॉंकुरों, वीरांगनाओं तथा जननायकों की स्‍मृति में जनभागीदारी से विभिन्‍न कार्यक्रम आयोजित कर न केवल शहीदों को श्रद्धांजलि दी जा सकेगी बल्कि युवा पीढ़ी में स्‍वाधीनता संग्राम की भावना जागृत करने एवं भारत को शक्तिशाली बनाने के संकल्‍प का प्रयास भी किया जाएगा।

मध्‍यप्रदेश शासन के विभिन्‍न विभागों द्वारा ''आज़ादी का अमृत महोत्‍सव'' अंतर्गत स्‍वाधीनता संग्राम की भावना जागृत करने एवं शहीदों को श्रद्धांजलिस्‍वरूप प्रदेश में ऑनलाईन/ऑफलाईन कार्यक्रम सम्‍पन्‍न हुए हैं। इसी प्रकार आगामी दिनों में ''आज़ादी का अमृत महोत्‍सव'' अंतर्गत विभिनन कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे।

''आज़ादी का अमृत महोत्‍सव'' अंतर्गत स्‍वातंत्र्य समर से लेकर स्‍वाधीनता तक के मध्‍यप्रदेश के चर्चित और गुमनाम रणबॉंकुरों, जननायकों, महापुरुषों, शहीदों, क्रांतिकारियों एवं स्‍वतंत्रता सेनानियों की जन्‍म एवं कर्मस्‍थली के साथ ही मध्‍यप्रदेश के जिला मुख्‍यालयों पर 15 अगस्‍त, 2023 तक कलानुशासन की विभिन्‍न गतिविधियों में देश-प्रदेश के अनेक कलाकारों को मंचीय प्रस्‍तुतियों के माध्‍यम से न केवल अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर उपलब्‍ध कराया जायेगा बल्कि आत्‍मनिर्भर बनाकर उन्‍हें आर्थिक रूप से स‍क्षमता की ओर अग्रसर भी किया जा सकेगा।

सोशल मीडिया के माध्‍यम से भी सतत् रूप से देश-प्रदेश के ज्ञात-अज्ञात क्रांतिकारियों, शहीदों, रणबॉंकुरों, वीरांगनाओं एवं जननायकों का स्‍मरण कर देशवासियों में स्‍वाधीनता संग्राम की भावना जागृत करने के अनुकरणीय प्रयास जारी हैं।